all-type-of-news देश

लॉकडाउन बढ़ाने की तैयारी में है उद्धव सरकार,ज्यादा छूट नहीं देना चाहते





मुंबई
महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों और मानसून के कारण उद्धव ठाकरे सरकार लॉकडाउन बढ़ाने की तैयारी में है। इस दौरान सरकार छूट को कम करने के मूड में नहीं है। बता दें कि NCP प्रमुख शरद पवार लॉकडाउन में सावधानी बरतने के साथ ज्यादा ढील देने की बात कह चुके हैं। हालांकि उनके इस बयान पर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा था कि महाराष्ट्र सरकार ने जिस तरह धीरे-धीरे लॉकडाउन बढ़ाया था। उसी तरह लॉकडाउन में धीरे-धीरे करके पाबंदियों में ढील भी दी जाएगा।
महाराष्ट्र सरकार के अधिकारियों की मानें तो जून के आखिर तक मुंबई और पुणे के महानगरीय क्षेत्र में ट्रेनों और बसों की तरह सार्वजनिक सभा और पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर बैन जारी रहेगा।

मौजूदा समय में सरकार दुकानों और अन्य जरूरी सामानों के लिए छूट देने की तैयारी कर रही है। सूत्रों के अनुसार इलेक्ट्रॉनिक सामानों की दुकानों और ऑटो स्पेयर पार्ट्स की दुकानों को भी खोलने की अनुमति दी जा सकती है। बता दें कि महाराष्ट्र सरकार मानसून को लेकर अधिक सतर्कता बरतना चाहती है क्योंकि जून से मानसून शुरू हो रहा है और Covid-19 के मामलों के भी इसी दौरान बढ़ने की संभावना है।

मानसून में बढ़ेगींं ये बीमारियां
मानसून के दौरान न सिर्फ Covid-19 बल्कि डेंगू, मलेरिया और लेप्टोस्पायरोसिस बीमारियों के मरीज भी बढ़ सकते हैं। ये सभी बीमारियां मानसून के दौरान ज्यादा फैलती हैं। इस दौरान सरकारी और प्राइवेट सभी अस्पतालों में इन मरीजों की संख्या अधिक होती है। राज्य सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन में छूट दिया जाना बेहतर कदम होगा।

लॉकडाउन में ढील देने के पक्ष में नेता
बता दें कि NCP प्रमुख शरद पवार समेत दूसरे नेता भी लॉकडाउन में ढील देने के पक्ष में हैं। शरद पवार ने बीते दिनों कहा था कि सरकार को सावधानी बरतने के साथ ही लॉकडाउन में और छूट देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जब राज्य सरकार लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा करेगी तो उन्हें लॉकडाउन में और अधिक छूट मिलने की उम्मीद है। हालांकि सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा था कि महाराष्ट्र सरकार की तरफ से जिस तरह धीरे-धीरे लॉकडाउन में पाबंदियों को बढ़ाया गया था। उसी तरह धीरे-धीरे कर लॉकडाउन में ढील भी दी जाएगा।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *