all-type-of-news देश

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने किया बर्खास्त, आतंकियों के मददगार DSP देवेंद्र सिंह पर कार्रवाई

 
नई दिल्ली 

कश्मीर में आतंकियों के साथ पकड़े गए डीएसपी देवेंद्र सिंह पर बड़ी कार्रवाई हुई. देवेंद्र सिंह को जम्मू और कश्मीर पुलिस से बर्खास्त कर दिया गया है. इसे लेकर एक आदेश जारी किया गया है. देवेंद्र सिंह को शनिवार को दो आतंकियों के साथ पकड़ा गया था. वह कुछ दिनों से छुट्टी पर पर था. संसद पर हमला करने वाले आतंकियों की मदद करने के मामले में भी वो जांज एजेंसियों के निशाने पर है. फिलहाल एनआईए उससे पूछताछ कर रही है. जम्मू-कश्मीर के कुलगाम से गिरफ्तार डीएसपी देवेंद्र सिंह को लेकर सुरक्षा एजेंसियों ने जम्मू-कश्मीर को कई बार आगाह किया था, लेकिन लापरवाही की वजह से डीएसपी देवेंद्र सिंह बार-बार बचता रहा. 11 जनवरी को सुबह जब वो श्रीनगर से अपने आई-10 कार में अपने घर से निकला तब टीम उसके पीछे लगी रही. जवाहर टनल से पहले पुलिस ने उसे हिज्बुल के दो टॉप आतंकियों के साथ गिरफ्तार किया था.

जम्मू कश्मीर के डीएसपी देवेंद्र सिंह के मामले की जांच गृह मंत्रालय ने एनआईए को सौंपी है. एनआईए की 6 सदस्यीय टीम इस मामले कीजांच कर रही है. देवेंद्र सिंह से लगातार पूछताछ की जा रही है. सूत्रों के मुताबिक, डीएसपी देवेंद्र सिंह से आईबी और मिलिट्री इंटेलिजेंस के अधिकारी पहले ही पूछताछ कर चुके हैं.

हवाला के पैसे का कश्मीर में इस्तेमाल
जम्मू-कश्मीर पुलिस के बर्खास्त पुलिस उपाधीक्षक देवेंद्र सिंह की गिरफ्तारी के बाद हो रही जांच में लगातार नए खुलासे सामने आ रहे हैं. देवेंद्र सिंह के साथ गिरफ्तार किए गए हिजबुल मुजाहिदीन के 2 आतंकवादियों से भी पूछताछ हो रही है. आतंकियों ने पूछताछ के दौरान भारत और देश से बाहर भी उसके आतंकी संबंधों के बारे में कुछ अहम सुराग दिए हैं.

सब इंस्पेक्टर रहने के बाद देवेंद्र सिंह स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) में शामिल हो गए जिससे उनके घाटी में कई लोगों से संपर्क स्थापित हो गए और विदेश से आने वाला हवाला के पैसे को कश्मीर में इस्तेमाल किया गया. कहा जा रहा है कि हवाला का पैसा आते ही गिरफ्तार जम्मू-कश्मीर पुलिस का अधिकारी देवेंद्र सिंह उनसे तुरंत अपना हिस्सा ले लिया करता था.

देवेंद्र सिंह का होने वाला था प्रमोशन
जम्मू-कश्मीर पुलिस के सूत्रों का दावा है कि जल्द ही डीएसपी देवेंद्र सिंह का प्रमोशन पुलिस अधीक्षक (SP) के पद पर होने वाला था. उसका नाम उन अधिकारियों की लिस्ट में शामिल था, जो पदोन्नति पाने वाले थे. संदिग्ध गतिविधियों में लिप्त होने के बाद भी प्रमोशन की लिस्ट में देवेंद्र सिंह का नाम था.

गृह मंत्रालय ने नहीं दिया है कोई पदक
जम्मू और कश्मीर पुलिस ने मंगलवार को मीडिया के कुछ वर्गो में चल रही खबर का खंडन करते हुए कहा कि पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) दविंदर सिंह को गृह मंत्रालय ने कभी किसी पदक से सम्मानित नहीं किया था. पूर्व में जम्मू-कश्मीर राज्य द्वारा 2018 में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर उनकी सेवा के दौरान केवल वीरता पदक से उन्हें सम्मानित किया गया था.

फीयादीन हमले का सामने करने पर मिला था पदक
पुलिस ने कहा कि जिला पुलिस लाइंस पुलवामा में जब वह डीएसपी के रूप में तैनात थे, तब 25-26 अगस्त 2017 को यहां आतंकवादियों द्वारा एक फिदायीन हमले का सामना करने में उनकी भागीदारी के लिए उन्हें पदक प्रदान किया गया था. मीडिया के एक वर्ग ने यह खबर चलाई थी कि पिछले साल सिंह को वीरता के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. ऐसे में पुलिस ने मीडियाकर्मियों को तथ्यहीन कहानियों से बचने की सलाह दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *