all-type-of-news दुनिया

प्लेन गिराने पर दबाव में ईरान, गिरफ्तारियां शुरू

तेहरान
ईरान ने मंगलवार को घोषणा की कि पिछले हफ्ते तेहरान में यूक्रेन के एक विमान को मार गिराने के मामले में पहली बार गिरफ्तारियां हुई हैं। हालांकि, यह नहीं बताया गया है कि कितने लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस दुर्घटना को लेकर ईरान में पिछले तीन दिनों से लगातार प्रदर्शन चल रहे हैं। प्रदर्शनकारी ‘तानाशाह की मौत’ के नारे लगाते भी दिखे। यूक्रेन इंटरनैशनल एयरलाइंस के विमान को बुधवार को उड़ान भरने के तुरंत बाद मिसाइल से मार गिराया गया था जिससे विमान में सवार 176 यात्री और चालक दल के सदस्य मारे गए थे।

तेहरान ने कई दिनों तक पश्चिमी देशों के इन दावों को खारिज किया कि बोइंग 737 को मिसाइल से मार गिराया गया था, लेकिन पिछले शनिवार को उसने विमान को मार गिराने की बात स्वीकार की थी। टेलिविजन पर प्रसारित संवाददाता सम्मेलन में न्यायपालिका ने गिरफ्तारी की घोषणा की, लेकिन यह नहीं बताया कि कितने लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

प्रवक्ता गुलाम हसन इस्माईली ने कहा, ‘व्यापक जांच की गई है और कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया है।’ इससे कुछ देर पहले राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा कि इस घटना के लिए जिम्मेदार लोगों को दंडित किया जाना चाहिए। रूहानी ने कहा, ‘हमारे लोगों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि इस घटना में चाहे किसी भी स्तर पर किसी की भी गलती या लापरवाही हो, उसे न्याय का सामना करना पड़ेगा।’

ईरानी राष्ट्रपति ने कहा, ‘जिस किसी को भी दंडित होना चाहिए उसे अवश्य दंडित किया जाए।’ रूहानी ने कहा, ‘न्यायपालिका को विशेष अदालत का गठन करना चाहिए जिसमें उच्च रैंकिंग वाले न्यायाधीश और दर्जनों विशेषज्ञ हों…पूरी दुनिया देख रही है।’ उन्होंने कहा, ‘ऐसा नहीं हो सकता कि जिस व्यक्ति ने बटन दबाया उसी की गलती हो। दूसरे लोग भी हैं और मैं इसे लोगों को बताना चाहता हूं।’ ईरान पर इस दुखद घटना की पूरी और पारदर्शिता से जांच कराने के लिए अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ता जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *