देश

बंगाल के दक्षिणी दीनाजपुर में गैंगरेप के बाद उबाल, इंसाफ की मांग

कोलकाता
पश्चिम बंगाल के दक्षिणी दिनाजपुर जिले के कुमारगंज में एक नाबालिग लड़की के साथ कथित गैंगरेप और शव को जलाए जाने के मामले में सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्‍सा फूट पड़ा है। बच्‍ची का शव एक पुल के नीचे पाया गया था जहां कुत्‍ते उसे नोच रहे थे। अब हजारों की संख्‍या में लोग ट्वीट करके पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी से नाबालिग छात्रा को न्‍याय दिलाने और आरोपी महबूबुर मियां के खिलाफ ऐक्‍शन लेने की गुहार लगा रहे हैं। इस बीच बीजेपी ने भी पूरे मामले को लेकर ममता सरकार को कटघरे में खड़ा किया है और पश्चिम बंगाल को ‘दुष्‍कर्म राज्‍य’ करार दिया है।

बीजेपी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और पश्चिम बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट ममता बनर्जी पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा, ‘दुष्कर्म राज्य। जिस राज्य की मुख्यमंत्री (ममता) महिला हो, वहां महिला सुरक्षा का खास ध्यान रखा जाता है लेकिन पश्चिम बंगाल में मासूम बच्चियों के साथ दुष्कर्म की वारदात लगातार हो रही है। कानून व्यवस्था भंग है। बेलूरघाट की बच्ची को न्याय कब मिलेगा।’

इस बीच सोशल मीडिया पर नाबालिग बच्‍ची को न्‍याय‍ दिलाने के लिए हजारों की संख्‍या में ट्वीट किए जा रहे हैं और राज्‍य सरकार के रवैये पर सवाल उठाए जा रे हैं। बता दें कि 17 वर्षीय लड़की के परिवार वालों ने आरोप लगाया है कि उनके बेटी के साथ गैंगरेप हुआ और हत्‍या कर उसके शव को आग लगा दी गई। उधर, एसएसपी देवर्षी दत्‍ता ने कहा कि पीड़‍िता के शरीर पर घाव मिले थे। लड़की का जला हुआ शव एक पुल के नीचे पाया गया था।

‘लड़की का महबुबुर मियां से प्रेम संबंध’
एसएसपी ने कहा क‍ि इस मामले में शामिल तीन लोगों को अरेस्‍ट कर लिया गया है। उन्‍होंने कहा, ‘बच्‍ची के साथ दुष्‍कर्म हुआ था या नहीं यह हम पोस्‍टमॉर्टम र‍िपोर्ट आने के बाद ही कह पाएंगे।’ पीड़‍िता के भाई का कहना है कि उनकी बहन रविवार से लापता है। स्‍थानीय लोगों और पुलिस का कहना है कि लड़की का महबुबुर मियां से प्रेम संबंध था। मियां लड़की को रविवार को पुल के पास ले गया और जहां उसके दोस्‍त पंकज बर्मन और गौतम बर्मन भी आ गए।

पुलिस ने बताया कि इन तीनों लोगों ने लड़की के साथ गैंगरेप किया और हत्‍या कर दी। इसके बाद साक्ष्‍यों को छिपाने के लिए उसके ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। लड़की का सोमवार को जला हुआ शव मिला था। उस समय कुत्‍ते लड़की के शव को खा रहे थे। शव को पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेजा गया और पीड़‍िता के परिवार की पहचान की गई। प्रारंभिक जांच के बाद आरोपियों को पकड़ लिया गया और उन्‍हें बलूरघाट सत्र अदालत के समक्ष पेश किया गया। लड़की की हत्‍या के बाद स्‍थानीय लोगों ने जमकर प्रदर्शन किया था और दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *